लङका:- मैं तुम्हें बिना छुए kiss करुंगा लङकी :- नहीं कर सकते लङका :- चल लगी 5-5 रुपए की शर्त लङकी :- ठीक है लङका :- जोर से पकङ कर kiss करता है लङकी :- हे तुमने मुझे टच किया लङका :- तो रोती क्युं है ले 5 रुपये !!

पूनम की रात में चांद बदल जाता है वक्‍त के साथ इंसान बदल जाता है सोचता हूं कि आपको तंग ना करू मगर सोचते-सोचते प्‍लान बदल जाता है ।।

इश्‍क के ख्‍याल बहुत है इश्‍क के चेहरे बहुत है सोचता हू हम भी कर ले इश्‍क पर सुना है कि इश्‍क मे खरचे बहुत है ।।

मेरी हंसी का हिसाब कोन करेगा मेरी गलतियों को माफ कौन करेगा ऐ खुदा मेरे दोस्‍तो को सलामत रखना वर्ना मेरी शादी में नागिन डांस कौन करेगा ।।

हम आज भी दिल का आसीयाना सजाने से डरते है बागों में फूल खिलाने से डरते है हमारी एक पंसद से टूट जायेगे हजारो दिल तभी तो हम आज भी, Girlfriend बनाने से डरते है ।।

हवाओ के झोके से खुलने वाला जूड़ा नही होता सदा हंसने वाला कभी बूडा नही होता ।।

तुम जब से मेरी जिन्‍दगी में आई हो बनके फीमेल याद रहा न अब कुछ, ना पोस्‍ट मैन ना ई मेल ।।

KYA लेकर आये थे, क्‍या लेकर जाओगे मुझे एसएमएस न करोगे जालिम, कितने पैसे बचाओगे ।।

देखा उन्‍होने जब अपनी तीरछी नजरो से हम तो मदहोश ही हो गये जब पता चला की नजरे ही तीरछी है हम तो बेहोश ही हो गये ।

प्‍यार करो तो किसी एक से करो हो सके तो किसी नेक से करो जब तक ना मिले सच्‍चा साथी ट्राई तो हर एक से करो ।।

अरे क्‍या हुआ उसने जो मेहदीं सजा ली अब हम भी शहर सजायेगे तो क्‍या हुआ वो हमारे नसीब में नही अब तो हम उसकी छोटी वहन को पटायेगे ।।

मेरी गर्लफ्रेंड को अपनी पलको पर बिठालों देकर खुशी उसके सारे गम चुरा लो प्‍यार इतना करो उसकी सहेली के सामने की उसकी सहेली कहे जानू मुझे भी पटा लो ।।

ना जाने कब हमारा साथ छूट जाये ना जाने कब आखों से आसूं छूट जाये कुछ पल हंसा करो यारो ना जाने कब तुम्‍हारा दांत टूट जाये ।।

एक खास बात बता दू जिन्‍दगी में वही लोग आगे बडते है जो लोग झाडू लगाते है, पोछा लगाने वालो को तो मैने सिर्फ पीछे हटते देखा है ।।